You are currently viewing 16 साल की भारतीय छात्रा ने खड़ी की करोड़ो की AI कंपनी, ये डिटेल जान हैरान रह जाएंगे आप

16 साल की भारतीय छात्रा ने खड़ी की करोड़ो की AI कंपनी, ये डिटेल जान हैरान रह जाएंगे आप


Delv AI: टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भारत की एक 16 वर्षीय प्रतिभाशाली प्रांजलि अवस्थी ने सनसनी मचाई हुई है. दरअसल, छात्रा ने 16 साल की उम्र में करोड़ो की AI कंपनी खड़ी कर दी है जिसमें 10 लोग काम करते हैं. यानि जिस उम्र में बच्चे 11वीं या 12वीं में होते हैं और इस बात को लेकर कन्फ्यूज रहते हैं कि उन्हें आगे क्या है, इस उम्र में प्रांजलि ने एक AI कंपनी खड़ी कर दी है. छात्रा ने Delv.AI नाम का एआई स्टार्टअप शुरू किया है जिसकी वैल्यूएशन 12 मिलियन डॉलर से ज्यादा की है.

पिता को दिया कामयाबी का श्रेय

प्रांजलि अवस्थी ने मियामी टेक वीक कार्यक्रम के दौरान बताया कि उन्होंने जनवरी 2022 में अपनी कंपनी की स्थापना की और अब तक वे सफलतापूर्वक लगभग 3.7 करोड़ रुपये की फंडिंग हासिल कर चुकी हैं.  यानि महज 2 साल से भी कम में उन्होंने करोड़ो की कंपनी खड़ी कर दी है. ये अपने आप में एक हैरान करने वाली बात है. कंपनी की लिंक्डइन प्रोफ़ाइल के मुताबिक, इसमें फिलहाल 10 लोग काम करते हैं. खुद का व्यवसाय शुरू करने और आज करोड़ो तक के सफर तक पहुंचने के लिए प्रांजलि ने प्रेरणा के प्राथमिक स्रोत के रूप में अपने पिता को श्रेय दिया. छात्रा ने कहा कि उन्होंने महज 7 साल की उम्र में कोडिंग करना शुरू कर दिया था.

प्रांजलि को साइंस और टेक से प्यार होना तब शुरू हुआ जब उनके पिता ने उन्हें इस विषय में पढ़ने और आगे करियर बनाने के लिए कहा. छात्रा को    
11 साल की उम्र में उनके परिवार के फ्लोरिडा शिफ्ट होने की वजह से और अच्छे मौके मिले और उन्होंने कंप्यूटर विज्ञान कक्षाओं और प्रतिस्पर्धी गणित कार्यक्रमों में भाग लिया. इसके बाद 13 साल की उम्र में प्रांजलि ने फ्लोरिडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी अनुसंधान प्रयोगशालाओं में इंटर्नशिप की जहां से उनका खुद की कंपनी खड़ी करने का मन पक्का हो गया और उन्होंने इसदिशा में काम करना शुरू कर दिया.

कोरोना में खाली समय का उठाया भरपूर फायदा 

इंटर्नशिप के दौरान छात्रा ने मशीन लर्निंग प्रोजेक्ट्स पर काम किया और वर्चुअली अपनी स्कूली पढ़ाई भी पूरी की. इसी समय पर ओपन एआई ने चैट जीपीटी बीटा 3 को भी लॉन्च किया था जिससे छात्रा को एआई का उपयोग करके रिसर्च डेटा एक्सट्रैक्शन और सम्मराइजेशन करने का विचार आया. इस अवधि के दौरान Delv.AI की कल्पना की गई और उन्होंने इसपर काम शुरू किया. छात्रा का मकसद डेटा एक्सट्रैक्शन को बेहतर बनाना और डेटा साइलो को खत्म करने के लिए मशीन लर्निंग का उपयोग करना था.

ऑन डेक और विलेज ग्लोबल से मिली फंडिंग

प्रांजलि अवस्थी की यात्रा एक महत्वपूर्ण मील के पत्थर पर तब पहुंच गई जब वह मियामी में बैकएंड कैपिटल के लुसी गुओ और डेव फोंटेनोट द्वारा संचालित एआई स्टार्टअप एक्सेलेरेटर में शामिल हो हुई. उन्होंने खुलासा किया कि प्रोडक्ट हंट पर Delv.AI के बीटा लॉन्च को असाधारण सफलता मिली और यही से उन्होंने इसपर काम और अच्छे से शुरू कर दिया. जिन लोगों को नहीं पता कि प्रोडक्ट हंट क्या है तो दरअसल, प्रोडक्ट हंट एक ऐसा मंच है जो किसी को भी अपना सॉफ़्टवेयर मुफ़्त में लोगों को साझा करने में मदद करता है. छात्रा का कहना है कि Delv.AI का प्राथमिक लक्ष्य बढ़ते ऑनलाइन कंटेंट के बीच रिसर्चर्स को विशिष्ट जानकारी तक कुशलतापूर्वक पहुंचने में सहायता करना है. एक्सेलेरेटर कार्यक्रम ने प्रांजलि को ऑन डेक और विलेज ग्लोबल से निवेश सुरक्षित करने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. Delv.AI ने कुल फंडिंग में 4,50,000 डॉलर (लगभग 3.7 करोड़ रुपये) जुटाए और वर्तमान में इसका अनुमानित मूल्यांकन 12 डॉलर मिलियन है.

यह भी पढ़ें:

WhatsApp आपकी प्राइवेसी को बेहतर बनाने के लिए ला रहा एक तगड़ा फीचर, डिटेल जान आप भी तुरंत करेंगे यूज



Source link

Leave a Reply